Home A Day In Memories

A Day In Memories

टेरेस, कॉफ़ी और वो

हम उसे "रिफ्रेशमेंट की पुड़िया' कहते थे, क्यूंकि उसके आसपास कोइ भी उदास नहीं रह सकता था.उसकी बेवकूफियों को और शरारतों को सब इसलिए...

यादों में एक दिन : बिस्कुट केक

  हर शनिवार की सुबह 'आई' और 'एफ' सेक्सन की कम्बाइंड क्लास चलती थी, और मैंने उसे पहली बार उसी कम्बाइंड क्लास में देखा था.वो...

यादों में एक दिन : आधे अधूरे नोट्स

उसे डर था की मैं उदास रहने लगा हूँ और खुद से बेहद निराश हूँ..उसे डर था की एक दिन मैं अपनी असफलताओं और...

यादों में एक दिन : गिफ्ट

वो खड़ी थी, सड़क के दूसरी तरफ.आज वो मेरे से पहले पहुँच गयी थी, जो मेरे लिए किसी आश्चर्य से कम नहीं था.हमेशा वो...

आई विल कम बैक अगेन

छठ का त्यौहार था.मैं सुबह के अर्घ्य के बाद जल्दी ही घर से निकल गया..उसी कोम्प्लेक्स के सामने खड़ा था, जहाँ हमने मिलना तय...

यादों में एक दिन (३) : न्यू इयर

वे दिन उसके जिंदगी के सबसे बुरे दिन थे.वो बेहद उदास थी.दो महीने हो आये थे और मुझे दूर दूर तक उसके चेहरे पे...

यादों में एक दिन (२) : जन्मदिन

दिसंबर का महीना था..जबरदस्त ठंड थी...सुबह पूरा शहर कोहरे से ढका रहता..सूरज देवता के दर्शन भी हर दिन बारह बजे के बाद ही होते...

यादों में एक दिन

(काफी दिनों बाद इस ब्लॉग के तरफ ध्यान गया मेरा आज..मेरे कुछ पुराने नोट्स में से एक नोट्स यहाँ पोस्ट कर रहा हूँ आज)..अपना...

उस दिन के बाद वैसी बारिश फिर नहीं हुई..

उस दिन तेज बारिश हो रही थी, आधी रात से ही..सुबह भी बारिश रुकने का नाम नहीं ले रही थी..बरामदे में एक स्कूटर लगी...